शुक्रवार, 1 जून 2018

👉 गुरु समुद्र हो ओर शिष्य पानी

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता कुछ ऎसा हो!!

🔶 शिष्य का पावन चरित्र ही सद्गुरु का अभिमान हो, होता है जैसे सूई का धागे से, वैसे ही दोनों का रिश्ता महान हो!!

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता....

🔷 सद्गुरु का आदेश के पहले ही शिष्य  उज्जवल भविष्य के मार्ग पर आगे बढ़ जाए... जलता है जैसे दिये '' बाती ओर तेल के साथ, वैसे ही.. दोनों का मिलना एक मिशाल बन जाए..!!

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता......

🔶 गुरु तो देवो के देव स्वंय महादेव हैं..पर शिष्य को बना वीरभद्र अपना... फेले हुए अनाचार को मिटाकर पाप - पतन का नाश करे जिससे आध्यात्मिक भूमि निर्माण हो..!!

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता.......

🔷 शिष्यतत्व का समर्पण इतना गहरा हो कि, जैसे रहती है परछाई ...इंसान के साथ... वैसे ही जिंदगी के हर मोड़ पर सद्गुरु  हो अपने शिष्य के साथ...!!
            
सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता......
   
🔶 सद्गुरु का चिंतन ही शिष्य का चरित्र हो, शिष्य का परिष्कृत जीवन ही '' सद्गुरु की पहचान हो, पहचान की सुगंध ही युगशक्ति का आवाहन हो...!!

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता......

🔷 शिष्य ओर गुरु की प्यार की डोर इतनी मजबूत हो... जैसी लोभ मोह की लिप्सओ रूपी जंजीर भी ना हो..ओर सद्गुरु का ज्ञान भंडार ही शिष्य का अध्ययन हो....!!
           
सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता.......

🔶 हो लाख परेशानियां मे शिष्य  चाहे... गुरु से मन की बात कहने मे शिष्य चाहे कितना भी मगरूर हू... फिर भी अपने शिष्य की हर जरूरत का सद्गुरु अहसास हो....!!

सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता..........

🔷 श्रद्धा समर्पण ओर लक्ष्‍य प्राप्ति इतनी स्पष्ट हो, कि स्वंय महाकाल का आदेश हो... ओर शिष्य के हाथों ही इक्कीसवी सदी उज्जवल भविष्य हो......!!
     
🔶 सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता कुछ ऎसा हो....सद्गुरु ओर शिष्य का रिश्ता कुछ ऎसा हो...

🔷 हम सभी का रिश्ता भी कुछ ऎसा हो......अपने सद्गुरु से...   लेखनी जो भी लिखेगी आपकी ही योजना....

कोई टिप्पणी नहीं:

👉 निर्माण से पूर्व सुधार की सोचें (भाग ५)

कुरीतियों की दृष्टि से यों अपना समाज भी अछूता नहीं हैं, पर अपना देश तो इसके लिए संसार भर में बदनाम है। विवाह योग्य लड़के लड़कियों के उपयुक...