सोमवार, 5 नवंबर 2018

👉 ये_हमारी_आपकी_जिम्मेदारी_है।

🔶 दूर सीमा पर चीन जब कुछ किलोमीटर अंदर घुसता है तो हम आप सब तमतमा जाते हैं।

🔷 किन्तु इन गरीबों की होली दीवाली ही नहीं बल्कि इनके भोजन की थाली तक पर चीन कब्ज़ा कर रहा है। इस चीनी आक्रमण से जूझने में इन्हें हमारी आपकी सहायता और सहयोग की आवश्यकता है।

🔶 आइये इस दीपावली पर इन मेहनतकश किन्तु गरीब कुम्हारों से भी कुछ न कुछ जरूर खरीदें वह भी बिना किसी तोलमोल के।

🔷 कुल 50 पैसे मूल्य और 2-3 रु की लागत वाली पैकिंग/मार्केटिंग/एडवरटाइज़िंग वाला बोतलबंद पानी हम 20 रु में खरीदते हैं, वो भी तोलमोल का एक शब्द बिना बोले हुए।
अतः हमारी श्रेष्ट प्राचीन परम्पराओं को विषम परिस्थितियों में भी जीवन दे रहे ये मेहनतकश गरीब कुम्हार भी अपने घरों में सुख और संतोष के साथ दीपावली का दीप जला सकें, क्या ये हमारा आपका दायित्व नहीं है.?

🔶 ये हम से कुछ विशेष अपेक्षा भी नहीं कर रहे हैं। बस अपनी मेहनत को मान्यता और उसका मूल्य हमसे चाह रहे हैं।

🔷 अतः आइये इस दीपावली पर इन मेहनतकश किन्तु गरीब कुम्हारों से भी हम कुछ न कुछ जरूर खरीदें वह भी बिना किसी तोलमोल के...

👉 संदेह के बीज

🔷 एक सहेली ने दूसरी सहेली से पूछा:- बच्चा पैदा होने की खुशी में तुम्हारे पति ने तुम्हें क्या तोहफा दिया? सहेली ने कहा - कुछ भी नहीं! उस...