मंगलवार, 30 अगस्त 2016

आज का सद्चिंतन 31 Aug 2016




कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

👉 भगवान की कृपा या अकृपा

🔵 एक व्यक्ति नित्य हनुमान जी की मूर्ति के आगे दिया जलाने जाया करता था। एक दिन मैंने उससे इसका कारण पूछा तो उसने कहा- ”मैंने हनुमान जी क...